Hasrat

 

Kyon batate, kyon jalaate, kyun sataate hain;

Ki hasraton ki beej yun alfaaz paate hain

 

क्यों बताते, क्यों जलाते, क्यों सताते हैं,

हसरतों के बी यों अलफ़ाज़ पाते हैं.

Advertisements