Fakt

Shikwa bhi hoon, shikayat hoon main

Jo unsuni rahi, voh hidaayat hoon main

Sukoon–e-rooh waali ijaazat bhi main

Khud se ki hui tijaarat bhi main

Sach kahoon to fakt aadat hoon main.

(c)

 

शिकवा भी हूँ, शिकायत भी हूँ,

जो अनसुनी रही वोह हिदायत हूँ मैं,

सुकून इ रूह वाली इजाज़त भी मैं,

खुद से की हुई तिजारत भी मैं,

सच कहूं, तो फाख्त आदत हूँ मैं.

Advertisements